blogid : 4776 postid : 21

सस्ती जान सस्ती पैकिंग

Posted On: 22 Apr, 2011 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आजकल आप जहां देखिए हर जात की जान सस्ती होती जा रही है जानकारी तो रोज मिल जाती है कि आज यहां बोरे में बंद या अटैची में कोई शव बरामद हुआ है क्या इंसान की जान इतनी सस्ती हो गई कि जहां देखिए वहां इंसान को मार दिया जाता है और उसकी बॉडी को किसी बोरे या अटैची में ठूंस कर भर दिया जाता है और उसे किसी रेलवे स्टेशन या किसी समुद्र के किनारे फेंक दिया जाता है पुलिस आती है खोलती है और थोडी सी कार्रवाई कर फाइल को शायद बंद ही कर दिया जाता होगा। अगर आम आदमी की जान इतनी सस्ती है तो वहां की राज्य सरकार या वहां की पुलिस इस पर कोई कठोर कार्रवाई क्यों नहीं करती है वह करती ही नहीं है या और किसी और के शव का इंतजार वह करती है जिससे बाद में कार्रवाई की जा सके । अगर ऐसा है तो हर आदमी को सरकार से किसी प्रकार की सिक्योरिटी की उम्मीद न लगाते हुए उसे स्वयं को अपनी हर प्रकार से अपनी सिक्योरिटी करनी होगी ।

| NEXT

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

sharadshuklafaizabad के द्वारा
April 25, 2011

sach kaha apne bhai aapne

nishamittal के द्वारा
April 23, 2011

सही कहा है कपिल जी आपने सबसे सस्ता मानव जीवन है अच्छा लेख.,इसी विषय पर मेरा आलेख पढ़ें


topic of the week



latest from jagran